Rishabh Shrivastava palmist contact details

About Me

Rishabh Shrivastava palmist contact details



Rishabh Shrivastava palmist contact details 

- 8085954295



नमस्कार दोस्तों, भगवान् आप सभी का भला करें और आपकी सारी मनोकामनाएं पूरी हो

अगर आप भी अपने हाथ का विश्लेषण कर विडियो बनवाना चाहते हैं या कॉल पर बात कर परामर्श चाहते हे तो contact करें हमारे whatsapp no. पर =  8085954295





हस्तरेखा क्यों हे इतनी महत्वपूर्ण और क्या होते हे इसके फायदे


बहुत से लोग ऎसे होते हे जिनके पास जन्म कुंडली नहीं होती और हर कोशिश और इतनी मेहनत के बाद भी हाथ कोई परिणाम नहीं लगता ब्लकि उनके कार्यो का credit कोई और ही ले जाता हे साथ ही ऎसे लोग जिस चीज या पद के हकदार होते हे वो तक नसीब नहीं हो पाता, इसलिए हस्तरेखा शास्त्र से यह आसानी से मालूम पड़ता हे कि ऎसा क्यू और किसलिए हो रहा हे जिसके बदोलत सबसे बड़ी कमी का पर्दाफाश होता हे और फिर ऎसे पीड़ित लोग उसके अनुसार उपाय कर अपनी तकलीफ  बड़ी ही सरलता से दूर कर पाते हे जिसके कुछ उदाहरण यह प्रस्तुत हे 




यह कुछ उदाहरण हे जिसे देख आप जान सकते हे कि कैसे हस्तरेखा ज्योतिष के द्वारा लोग अपने बारे में जान पाए हे और अपने ही असलियत से वाकिफ भी। हाथ की रेखाओ से किसी भी व्यक्ति का स्वाभाव ,आचरण , आसानी से जाना जा सकता हे। भूतकाल,वर्तमान,भविष्य से जुड़े पहलु बड़ी ही सरलता से व्यक्त किया जा सकता हे. 





रेखाओं का खेल ही है मुकद्दर, रेखाओं से मात खा रहे हो
बड़े-बुजुर्ग अकसर कहते हैं कि हमारी किस्मत हमारे हाथ में ही होती है। यह किस्मत हाथ की उन रेखाओं में भी समाई हुई है जो समय के साथ बदलती रहती हैं। हाथ की इन्हीं रेखाओं के अध्यन को हस्त रेखा (Hast Rekha) विज्ञान कहा जाता है।

हस्तरेखा (Palmistry): हस्त रेखा विज्ञान (Palmistry in Hindi) बेहद प्राचीन है। प्राचीन वेदों में भी हाथ देखकर भविष्य की गणना करने के साक्ष्य मौजुद हैं। सबसे अधिक प्रभावी और विस्तृत रूप से हस्त रेखा विज्ञान (History of Palm Reading) का वर्णन सामुद्रिक शास्त्र में पाया गया है।

हाथ की रेखाएं (Palm Lines): हस्त रेखा शास्त्र में कई तरह की रेखाओं के महत्व को दर्शाया गया है लेकिन मुख्य रूप से सात रेखाओं (Main Palm Lines) को ही अहम स्थान दिया गया है। इन रेखाओं को पढ़ने के लिए विशेष ज्ञान की आवश्यकता होती है।







(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});